Sunday, November 28, 2021
- विज्ञापन -spot_img
Homeआर्थिकमहंगाईःअक्टूबर महीने में 13 बार बढ़ाई गई पेट्रोल डीजल की कीमतें,यानी प्रायःहर...

महंगाईःअक्टूबर महीने में 13 बार बढ़ाई गई पेट्रोल डीजल की कीमतें,यानी प्रायःहर रोज बढ़ी कीमत

विमर्श( न्यूज डेस्क)-बाजार खुल रहा है, रोजगार के अवसर बन रहे हैं, लेकिन इसके साथ समय है यह कहने का है कि, “…..महंगाई डायन खाए जात है ।……”


यह कोई मजाक या जोक नहीं है। आप देखें केवल अक्टूबर महीने मैं पेट्रोल की कीमतों में कुल ₹ 4.20पैसे की बढ़त हुई है।बिहार की राजधानी पटना में तो शनिवार को पेट्रोल ₹109 से ज्यादा और डीजल ₹100 प्रति लीटर की दर से मिला


हम बताते चलें कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत बढ़त का जो ट्रेंड है उसके अनुसार दिसंबर महीने तक लगातार कीमतें बढ़ती ही जानी है । इसी आधार पर यह कहा जा रहा है की मार्च महीने तक पेट्रोल की कीमत ₹160 प्रति लीटर हो जानी है।

राज्य सरकार की मौद्रिक स्थिति के बारे में अर्थशास्त्रियों का जो अनुमान है इससे यह कोई संभावना नहीं लगती है कि टैक्स में कोई कमी की जाए। इसी तरह पेट्रोल उत्पादन के टैक्स को सामान्य गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) के अधीन लाने की संभावना भी नहीं है। यह अलग बात है कि पूरे देश में यह मांग जोर से उठी है कि पेट्रोलियम पदार्थों को भी जीएसटी के कर दायरे में नियंत्रित रखा जाना चाहिए। जीएसटी कर डायरेक्ट के सबसे बड़े और ऊंचे स्लैब से भी पेट्रोलियम पदार्थों पर कर दोगुना रखा गया है।


देश के जाने माने आर्थिक विश्लेषक और साथ-साथ राजनीतिक विश्लेषकों ने अनुमान लगाया है कि टैक्स में कमी किए बगैर आगे पेट्रोल डीजल की कीमतों में राहत की संभावना नहीं है। ज्ञातव्य है कि हम पेट्रोल डीजल की जितनी भी कीमत देते हैं उसमें प्रत्येक ₹1 में 60 पैसे से ज्यादा केंद्र और राज्य सरकारों के कर होते हैं।


यह सर्व विदित है कि पेट्रोल डीजल की कीमतें बढ़ने से जीवन के लिए हर जरूरी सामान की कीमतें भी बढ़ जाती हैं. इसके अलावा खुदरा औऱ स्थानीय बाजारों में भी अलग-अलग कारणों से कीमतें बढ़ती रहती हैं। ऐसे में फल-सब्जियों, खाद्य तेल,चीनी,हर तरह की दालों और चावल आटें की कीमतें भी आसमान छूने लगी है। पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतें बढ़ने से रसोई गैस की कीमत भी अब 1000 रूपए प्रति सिलेंडर हो गई हैं। तो कहना नहीं होगा कि आम से खास तक सभी हलकान परेशान हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -spot_img

मोस्ट पॉपुलर

रीसेंट कॉमेंट